Skip to content

Life Problems or Opportunities in Hindi Story | जीवन की परेशानियां या अवसर

Posted in Hindi Stories, Moral Stories, and Motivational Stories

Life Problems or Opportunities in Hindi Story HindIndia Motivational Blog images wallpapers
जीवन की परेशानियां या अवसर

Life Problems or Opportunities in Hindi Story | जीवन की परेशानियां या अवसर | जीवन की समस्याएं और उनका समाधान हिंदी कहानी | Life Problems and their Solution Hindi story | जीवन की समस्याओं को अवसर में बदलें | Change Life Problems in Opportunity Hindi Story

दोस्तों आज मैं आपको एक ऐसे भ्रम (a myth) के बारे में बताने जा रहा हूँ जो बहुत सारे सफल होने वाले लोगों को अपने मायाजाल में फंसाकर उनके आत्मविश्वास को तोड़ देता है और वह जिन्दगी जीने की बजाय अपनी परेशानियों (life problems) का रोना रोते हुए पूरी जिंदगी बिता देते हैं।

मैं बात कर रहा हूँ हमारे जीवन में आने वाली परेशानियों (life problems) के बारे में। ये आती तो सबके जीवन (life) में हैं चाहे वो अमीर हो या गरीब, बड़ा हो या छोटा, पापी हो या धर्मात्मा, मतलब सबके जीवन में।

जिनके पास धैर्य व दृढ़-इच्छाशक्ति होती है वह इसका पूरे आत्मविश्वास के साथ सामना करते हैं और इन परिस्थितियों से जीत जाते हैं।

You can also read : योगी आदित्यनाथ का जीवन परिचय

कभी मत सोचिये कि आत्मा के लिए कुछ असंभव है, ऐसा सोचना सबसे बड़ा विधर्म है, अगर कोई पाप है तो वो यही है; ये कहना कि तुम निर्बल हो या अन्य निर्बल हैं।

और वही कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो इन परिस्थितियों (circumstances) के आने पर इनका सामना करने की बजाय हजार बहाने बनाने लगते हैं जैसे – अरे मेरे साथ तो ये प्रॉब्लम (problem) है, वो दिक्कत है, इसमें तो इसकी गलती है, फलाना-ढ़माका और भी बहुत कुछ। और वो हार जाते हैं, असफल हो जाते हैं।

तो आईये इसको हम एक छोटी-सी कहानी के माध्यम से समझने की कोशिश करते हैं-

बहुत समय पहले की बात है, एक राजा (King) ने एक भारी पत्थर का टुकड़ा रास्ते के बीच में रख दिया और खुद एक पेड़ के पीछे छिप गया। वह इंतजार करने लगा कि इस रास्ते के पत्थर को कौन हटाता है।

You can also read : Love Story in Hindi प्यार की कहानी

कोई भी व्यक्ति अपने कार्यों से महान होता है ना कि अपने जन्म से।

कुछ समय बाद वहाँ से राजा के कुछ धनी व्यापारी व दरबारी गुजरे लेकिन वे लोग पत्थर को हटाने की बजाय वहां से किनारे होकर निकल गए।

कुछ समय बाद वहाँ से और भी लोग गुजरे और उन्होंने इसके लिए राजा को जिम्मेद्दार ठहराया और उन्होंने कहा कि इसमें राजा की गलती है कि वह सड़क को साफ़ नहीं करवाता। लेकिन उनमें से किसी ने भी रास्ते के उस पत्थर को हटाने की कोशिश नहीं की।

तभी वहाँ से एक किसान अपने सिर पर सब्जियों का भार लेकर गुजर रहा था। उसने उस पत्थर को हटाने के लिए अपने सिर का भार उस भारी पत्थर के बगल में रख दिया और उस पत्थर को रास्ते से हटाने का प्रयास (Effort) करने लगा।

You can also read : Funny Story in Hindi फनी हिंदी कहानी

जिस व्यक्ति ने कभी गलती नहीं कि उसने कभी कुछ नया करने की कोशिश नहीं की।

काफी प्रयास करने के बाद किसान ने उस पत्थर को रास्ते से हटाकर किनारे कर दिया।

उसके बाद किसान (farmer) अपने सब्जियों को उठाने के लिए वापस आया। उसने देखा कि जहाँ पर पहले पत्थर पड़ा हुआ था वहां पर एक पर्स पड़ा हुआ है। उस पर्स में बहुत सारे सोने के सिक्के थे और राजा के द्वारा लिखा हुआ एक पत्र था जिसमे लिखा हुआ था कि यह सोना उसके लिए है जिसने इस रास्ते के पत्थर को हटाया है।

शिक्षा | Moral

जीवन में आने वाली हर बाधा हमें अपनी परिस्थितियों को बेहतर बनाने का मौका (opportunity) देती है। आलसी इस चीज को लेकर शिकायत करते रहते हैं और बहादुर लोग अपने दयालु दिल, उदारता और काम करने की इच्छा के माध्यम से इसको अवसर में बदल देते हैं।

इसलिए जब भी हमारे जीवन में कोई बुरा वक्त आये तो हमें घबराने की बजाय उसका डटकर सामना करना चाहिए और उसे अच्छे पल में बदलने की कोशिश करनी चाहिए।

You can also read : Life Success Tips in Hindi to Be Richest

सफलता और खुशी का सारा खजाना हमारे दिमाग में होता है, इन्हें ठीक से निकालें।

Related Post

loading...

4 Comments

  1. Very Nice Sir……Aap Bahut Accha Article Likhte HO

    September 11, 2017
    |Reply
    • HindIndia
      HindIndia

      Utsahvardhan ke liye bahut-bahut aabhar Jitendra ji 🙂

      September 16, 2017
      |Reply
    • HindIndia
      HindIndia

      Thanks!! 🙂

      September 16, 2017
      |Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Subscribe For Latest Updates

Signup for our newsletter and get notified when we publish new articles for free!




HindIndia