Skip to content

Success Story in Hindi | सफलता कैसे मिलती है हिंदी कहानी

Posted in Motivational Stories, सफलता की कहानियां | Success Stories in Hindi, सेल्फ डेवलपमेंट | Self Development in Hindi, and हिंदी कहानियां | Best Hindi Stories

Success story in Hindi Great motivational story HindIndia images wallpapers
Success Story in Hindi

Success Story in Hindi । सफलता कैसे मिलती है हिंदी कहानी । Success Formula in Hindi । सफलता की कहानी । Great Entrepreneur Success Story in Hindiसफल कैसे बनें

दोस्तों, वैसे तो सफलता (Success) पाने के लिए सबके पास अपने-अपने rules होते हैं, लेकिन उन सभी में जो सबसे अहम व common होता है वह है कठिन परिश्रम व अपने काम के प्रति ईमानदारी।

आज हम आपके सामने एक ऐसे ही व्यक्ति का किस्सा बताने जा रहे हैं जिसने अपने कठिन परिश्रम के बदौलत न ही सिर्फ कामयाबी हासिल की बल्कि एक इतिहास भी रचा। तो आईये जानते हैं उनकी सक्सेस स्टोरी (Success Story in Hindi) उन्ही की जुबानी –

अमेरिका के चैम्बर ऑफ कॉमर्स के प्रेसिडेंट (President) ने कई साल पहले रिटायर होते समय आयोजित डिनर में एक कहानी (Story) सुनाई। वे अमेरिका के सबसे सम्मानित व्यवसायियों में से एक थे। उन्होंने उच्च गुणवत्ता के काम की ऐसी छवि विकसित कर ली थी, जिसके बारे में बिज़नेस (Business) का हर व्यक्ति सपने देखता है।

अगर ज़िन्दगी में कुछ पाना है तो तरीके बदलो इरादे नहीं।

उन्होंने कहा कि जब वे युवावस्था में असफल (Unsuccessful) और कुंठित थे, तो उन्हें एक हाई स्कूल के बुलेटिन बोर्ड पर एक भूरे लंच बैग पर एक कहावत दिखी। उस बुलेटिन बोर्ड के पास से गुजरते समय उन्होंने लंच बैग पर लिखे वे शब्द पढ़ लिए।

वे शब्द थे, “आपसे जितना काम करने की अपेक्षा की जाती है, उसके बाद आप जितना ज्यादा काम करते हैं, उसी के अनुपात में जीवन में आपकी सफलता तय होगी।

You can also read : बेस्ट व्हाट्सप्प स्टेटस

उन्होंने श्रोताओं को बताया कि इन शब्दों ने उनकी जिंदगी (Life) बदल दी। अपने करियर (Career) में उस वक़्त तक उन्हें महसूस होता था कि अगर वे दूसरों की अपेक्षा के मुताबिक और सौंपा गया काम कर रहे हैं, तो इतना ही काफी है।

सफलता अत्यधिक परिश्रम चाहती है।

लेकिन उस बिंदु के बाद उन्होंने संकल्प (determination) किया कि उनसे जितने काम की उम्मीद की जाती है, वे उससे बहुत ज्यादा काम करेंगे। उन्होंने संकल्प किया कि वे हमेशा एक मील आगे तक जायेंगे और उनको जितना भुगतान (payment) मिलता है, उससे ज्यादा काम करेंगे।

उस दिन के बाद अपने बाकि करियर में वे थोड़ी ज्यादा जल्दी उठे, थोड़ी ज्यादा मेहनत (hard work) की और देर तक रूक कर काम किया। वे एक काम से दूसरे काम तक और एक ग्राहक से दूसरे ग्राहक तक पहले की अपेक्षा ज्यादा तेजी से गए।

You can also read : सफलता आपके कदमों में

यही हमेशा होता है। वे जितनी तेजी से बढे, उन्हें उतना ही अनुभव मिला। उन्हें जितना ज्यादा अनुभव (experience) मिला, वे अपने काम (work) में उतने ही बेहतर बनते गए। वे जितने ज्यादा बेहतर बनते गए, उन्हें कम समय में उतने ही बेहतर परिणाम मिलते गए।

अपने शक्तियो पर भरोसा करने वाला कभी असफल नही होता।

कुछ ही समय में उन्हें ज्यादा भुगतान (payment) मिलने लगा और उनकी ज्यादा तरक्की होती गयी।

हमेशा अपेक्षा से ज्यादा काम करने और ज्यादा तेजी से बढ़ने के कारण वे अपने करियर में फ़ास्ट ट्रैक पर पहुँच गए और तेजी से आगे बढ़ने लगे। जल्दी ही उन्हें प्रमोशन दे कर एक नए डिपार्टमेंट में भेज दिया गया, फिर एक नए उद्योग में रखा गया और जिम्मेदारी का नया क्षेत्र सौंपा गया।

You can also read : अमीर कैसे बने

हर मामले में उनकी रणनीति एक ही थी। जितना भुगतान मिलता है उससे ज्यादा काम करोदूसरे जितनी उम्मीद करते हैं, उससे ज्यादा करो। एक मील ज्यादा चलो। व्यस्त रहो। चलते रहो। कर्म करोसमय बर्बाद मत करो (Do not waste your time)

आप जितनी ज्यादा कड़ी मेहनत करेंगे, परिणाम उतनी ही जल्दी प्राप्त होंगे।

और यही कारण था कि सफलता उन्हें दिन-प्रतिदिन मिलती गयी व कामयाबी ने कभी उनका पीछा नहीं छोड़ा और जीवन में उन्होंने कभी दुबारा मुड़कर नहीं देखा।

Related Post

20 Comments

  1. सफलता पाने के बहुत आसान तरीके बातहै आपने

    March 19, 2017
    |Reply
    • HindIndia
      HindIndia

      धन्यवाद और सादर आभार ज्योति मैम। 🙂

      March 20, 2017
      |Reply
  2. सफलता पाने के बेहतरीन जानकारी ! आप ऐसे ही लोगो को प्रेरित करते रहिये . आप जैसे पॉजिटिव लोगो की बहुत जरुरत है.

    March 19, 2017
    |Reply
    • HindIndia
      HindIndia

      बहुत-बहुत धन्यवाद विनोद जी। 🙂

      March 20, 2017
      |Reply
  3. बहुत उम्दा लेख

    March 20, 2017
    |Reply
    • HindIndia
      HindIndia

      सादर आभार व धन्यवाद अनूप जी। 🙂 🙂

      March 20, 2017
      |Reply
    • HindIndia
      HindIndia

      Thanks a lot @Achhipost. 🙂

      March 21, 2017
      |Reply
  4. Bhupendra Singh
    Bhupendra Singh

    बहुत बढ़िया

    March 21, 2017
    |Reply
    • HindIndia
      HindIndia

      धन्यवाद और सादर आभार भूपेंद्र जी। 🙂

      March 22, 2017
      |Reply
  5. आपने बिल्कुल सही कहा सफलता संघर्ष और कठिन मेहनत से ही संभव हैं । इसे करने में कभी कंजूसी नही करनी चहीए । बेहतरीन लेख । धन्यवाद ।

    March 22, 2017
    |Reply
    • HindIndia
      HindIndia

      आपको यह लेख अच्छा लगा इसके लिए सादर धन्यवाद बबीता जी। 🙂

      March 25, 2017
      |Reply
  6. सफलता पाने के लिए मजबूत इरादे काम आते हैं … अच्छी जानकारी …

    March 23, 2017
    |Reply
    • HindIndia
      HindIndia

      ब्लॉग पर आने व अपना विचार रखने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद व आभार दिगम्बर जी। 🙂 🙂

      March 25, 2017
      |Reply
  7. बहुत ही अच्छी जानकारी || धय्न्वाद ||

    March 23, 2017
    |Reply
    • HindIndia
      HindIndia

      सादर आभार व स्नेह वंदन कविता जी। 🙂

      March 25, 2017
      |Reply
  8. बहुत बढ़िया और प्रेरक लेखहै
    धनयवाद

    March 26, 2017
    |Reply
    • HindIndia
      HindIndia

      धन्यवाद संदीप जी। 🙂

      March 27, 2017
      |Reply
  9. sm
    sm

    you gave simple ideas to get a success
    nice article

    March 26, 2017
    |Reply
    • HindIndia
      HindIndia

      Thank you @SM. 🙂

      March 27, 2017
      |Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Subscribe For Latest Updates

Signup for our newsletter and get notified when we publish new articles for free!